यज्ञ में स्थापित हनुमान जी के ध्वज को उतार कर तालाब में ठंडा किया गया

भीलवाड़ा समाचार राजेश शर्मा धनोप।
विगत दिनों श्री श्री 1008 श्री रघुवीर दास जी महाराज, यज्ञाचार्य राधा मोहन शास्त्री, आचार्य श्रीराम शर्मा के सानिध्य में धनोप में चले रुद्र महायज्ञ में 18 अप्रैल को हनुमान जी के ध्वज की स्थापना की गई उसके बाद 18 मई को गणेश जी महाराज को न्योता दिया गया इस दौरान 2 जून से 12 जून तक 21 कुंड आत्मक रुद्र महायज्ञ संपन्न हुआ। रुद्र महायज्ञ संपन्न होने के बाद 22 जून बुधवार को गणेश जी महाराज को विदा किया गया तथा हनुमान जी के स्थापित ध्वज को निकाल कर पूजा अर्चना के साथ ध्वज तथा ध्वज पॉल को बांदरिया तालाब में ठंडा किया गया। सभी भामाशाहों, कार्यकर्ताओं तथा समिति के सदस्यो को दुपट्टा तथा यज्ञ में सिद्ध किए गए श्री महालक्ष्मी यंत्र सम्मानित कर दिया गया। यज्ञ में पूर्णाहुति देने वाले सभी जजमानो, भामाशाहों तथा सभी कार्यकर्ताओं ने गणेश जी की रसोई की प्रसादी नीलकंठ महादेव स्थान पर पाई। इस दौरान रुद्र महायज्ञ समिति अध्यक्ष लादू लाल कीर, कोषाध्यक्ष महावीर प्रसाद बुरड, सह कोषाध्यक्ष राजेश शर्मा, शिवराज माली, सचिव कमलेश कौशिक, सह सचिव अर्जुन माली, बुद्धि प्रकाश माली, सरपंच प्रतिनिधि लक्ष्मण वैष्णव तथा कार्यकर्ता मौजूद रहे।