देसी और अंग्रेजी अंडों की आड़ मे संचालित की जा रही है अवैध शराब की दुकान

भीलवाड़ा समाचार यशोदा श्याम पाराशर
*देसी और अंग्रेजी अंडों  की आड़ मे  संचालित की जा रही है अवैध शराब की दुकान ,भारी तादाद में  मिली अवैध देसी और अंग्रेजी शराब*   
               *आसावरी के निकट अवैध शराब की दुकान पर उपखंड अधिकारी की कार्रवाई*  
पारोली।  आसावरी के निकट स्थित हिंदुस्तान जिंक पंप स्टेशन पर 
 पानी की कमी के मामले  की  जांच करने पहुंचे उपखंड अधिकारी और माइनिंग विभाग के अधिकारी बनास नदी तट के निकट चारागाह भूमि में अवैध बजरी स्टॉक और अंडे की आड़ में अवैध रूप से संचालित शराब   दुकान पर छापामार कार्रवाई कर भारी मात्रा में शराब और बजरी के स्टाफ जप्त  की कार्रवाई की है।
दरअसल शुक्रवार देर शाम को  कोटडी उपखंड अधिकारी गोविंद सिंह भीचर , माइनिंग विभाग के फोरमैन ललित सिंह , पारोली थाना अधिकारी सरवर खां  सहित वन विभाग के  अधिकारी बनास पंपिंग स्टेशन 
के निकट  से अवैध रूप से बजरी खनन के चलते रामपुरा आगूचा में हो रही पानी की कमी के मामले की जांच करने पहुंचे  थे  तो इस दरमियान पास ही लगे अवैध बजरी स्टॉक और आसावरी के यहां  अवैध रूप से अंडो की आड़ में लगी शराब को दुकान को देखकर चकित रह गए।  
उपखंड अधिकारी गोविंद सिंह भींचर ने बताया कि आशावरी के निकट एक दुकान के बाहर बड़े- बड़े अक्षरों में  देसी और अंग्रेजी अंडे यहां मिलते हुए लिखा हुआ देखा लेकिन दुकान के अंदर जाकर देखा तो देसी और अंग्रेजी अंडों की आड़ में भारी मात्रा में विभिन्न ब्रांड की देशी और अंग्रेजी शराब  की पेटियां पड़ी हुई मिली थी, मामले को लेकर पारोली थाना अधिकारी को शराब से भरी पेटियां जप्त करने के निर्देश दिए वही अमरपुरा के निकट बनास नदी किनारे पर चारागाह भूमि में अवैध रूप से लगे बजरी के स्टॉक 
को जप्त कर कार्रवाई की गई जहां से  
माइनिंग विभाग के अधिकारियों ने700 टन बजरी के स्टाक को जप्त किया  है। 
एका-एक उपखंड अधिकारी की अवैध शराब माफियों और बजरी माफिया के खिलाफ हुई कार्रवाई से क्षेत्र में हड़कंप मच गया।
उपखंड अधिकारी  भींचर ने बताया कि आगे भी उनकी कार्रवाई अवैध कार्यों  की रोकथाम हेतु लगातार जारी रहेगी। थानाधिकारी सरवर खा ने बताया कि उपखंड अधिकारी के निर्देश पर अंडों की आड़ में अवैध शराब से भरी पेटियां जप्त कर शोभा जी का खेड़ा निवासी घनश्याम उम्र 34 वर्ष पुत्र लादू लाल दरोगा को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है ।